:- stay safe and healthy :-

Advertisement


 

मसालों के बादशाह एम डी एच के एमडीएच ग्रुप के के ऑनर मालिक महाशय धर्मपाल जी का निधन हो गया है सुबह 5:38 पर उनका निधन हुआ अब जो 97 साल के अजमेर चले गए देश मसाले कंपनी का मालिक महाशय का निधन हो गया है स्वर्गीय गुलाटी ने अपनी कंपनी के जरिए भारतीय मसालों की का प्रचार प्रसार पूरे दुनिया में किए और इनका विस्तार किया करो ना से ठीक होने के बाद उनको हार्ड अटैक आया और उसके बाद उनका निधन हो गया

 

व्यापार और उद्योग की दुनिया में उन्होंने उल्लेखनीय योगदान को लेकर पिछले साल राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें पद्म भूषण की आवक का अवार्ड दिया था 98 साल का महाशय गुलाटी अपने मसालों की ब्रांड इन एडवरटाइजिंग और प्रचार खुद ही करते थे गुलाटी का जन्म 27 मार्च 1927 को सियालकोट पाकिस्तान में हुआ था ऐसे 48 के विभाजन के बाद वह भारत गए और अपना महज 15 सो रुपए थे भारत अगर उन्होंने परिवार का भरण पोषण किया

 

 और धीरे-धीरेकुछ पैसे सेविंग करके उन्होंने करोल बाग में जो दिल्ली में स्थित है वहां पर अपना दुकान लेने की डाली थी धीरे-धीरे दुकान खोलने के बाद यह धीरे-धीरे इनका बिजनेस बढ़ने लगा और खुद ही एडवरटाइजिंग एंड और इसका प्रचार प्रसार जोरों से करने लगे दुनिया भर में इनकी बरसने लगे और फैक्ट्री बहुत ज्यादा बड़े हो गए इनके इंडिया और दुबई में मिलाकर कुल 18 फैक्ट्री है

 

जहां से पूरे वर्ल्ड में मसालों का व्यापार होता है और और धर्मपाल गुलाटी अपने उत्पादों की ऐड खुद ही किया करते थे खासकर यह अपनी टीम को अपने बारे में बताते हुए देखा होगा जिसमें वह मसालों के एडमिन मुद्रा जेड स्टार के रूप में माना जाता है और खुद ही ऐड किया करते थे धर्मपाल गुलाटी कक्षा पांचवी तक पढ़े थे आगे की पढ़ाई के लिए उन्होंने नहीं भले किताब शिक्षा नहीं थी लेकिन इस तरह के अनुसार ही वह बहुत ही उम्दा किस्म के इंसान थे गुलाटी की सैलरी करीब 90 से अधिक हिस्सा दान कर देते थे और वह 20 स्कूल और एक हॉस्पिटल भी चला रहे थे

Post a Comment

Previous Post Next Post