COVID-19 Updates: India: Confirmed-17,50,723 Deaths- 37,364 Recovered- 1,145,629 Active-567,730 New Cases in 24hrs- 54,000.


   
कोरोना का ऑल में क्रिकेट मैच की शुरुआत करने से पहले आईसीसी ने कई कड़े नियम बनाए थे ताकि  कोरोनावायरस से बचाव के साथ साथ क्रिकेट खेला जा सके दुनिया भर में कोरोनावायरस  का कहर टूटा हुआ है फिर भी इसी बीच इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच टेस्ट सीरीज खेली जा रही है

आईसीसी ने कोरोना के चलते कई नए नियम बनाएं है जिनमें से एक सबसे बड़ा नियम यह है कि गेंद को चमकाने के लिए कोई भी खिलाड़ी अपनी लार का इस्तेमाल नहीं करेगा और साथ ही यदि कोई खिलाड़ी यह नियम तोड़ता है तो उसे पहली बार एक चेतावनी दी जाएगी और यदि फिर भी दूसरी बार  उस टीम  के किसी भी खिलाड़ी द्वारा यह नियम  दुबारा तोड़ा जाता है तो विपक्षी टीम को 5 रन एक्स्ट्रा दे दिए जाएंगे|

और इसी दौरान इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच हो रहे मैच में आईसीसी के इस नियम का उल्लंघन हुआ इंग्लैंड के    Dom Silble लार का प्रयोग करते हुए दिखाई दिए जिसके तुरंत बाद ही अंपायरों ने गेंद को तुरंत सेनीटाइज करवाया| पहले ही दिन मैनचेस्टर टेस्ट  पर बारिश में अपना प्रकोप दिखा दिया जिस कारण  टॉस  और मैच में देर हो गई वहीं चौथे दिन डॉम सीब्लै मैं ज्ञान को चमकाने के लिए  अपनी लाल का उपयोग करके आईसीसी का एक नियम तोड़ दिया |

अक्सर क्रिकेट मैच के दौरान देखा जाता है कि खिलाड़ी अपनी गेंद को चमकाने के लिए अपनी लार का इस्तेमाल करते हैं | किंतु  कोरोना का काल में यदि इसी प्रकार का व्यवहार जारी रहता तो यह कोरोना को बढ़ावा देने जैसा होता इसी कारण आईसीसी ने नो सलाइवा नियम बनाया क्योंकि सभी को यह पता है कि कोरोनावायरस  हमारे  मुंह या नाक  किसी से भी निकलने वाले ड्रॉपलेट्स से फैल सकता है यदि कोई कोरोना  पीड़ित खिलाड़ी है और वह अपनी लार से गेंद को चमका रहा है तो दूसरे सभी खिलाड़ियों को कोरोनहो सकता है|

Post a Comment

Previous Post Next Post